UC Browser
The No. 1 Browser of the year UC Browser Download now - Win iPhone5s and MotoG!
सिंधी के घर के बाहर पठान ने आवाज लगाई।

अंदर से सिंधी सिर्फ तौलिया लपेटे बाहर आया और हाथ जोडकर बोला, "बाबा 5 साल से आप मैरे घर भिक्षा मांगने आ रहे हैं और मैंने बिना कुछ दिये आपको कभी नही लौटाया, पर आज मेरे पास कुछ नही है। रात को डाकू आये और मेरे जीवन भर की कमाई ले गये। यहाँ तक कि बदन पे कपडे भी नही छोडे। अब मैं नंगा आपको क्या दूँ और खुद क्या खाऊँ?"

यह कहते हुए सिंधी रोने लगा।

यह देख पठान की आँख मे भी आँसू आ गये। पठान ने सिंधी के सिर पर हाथ रखा और बोला, "रो मत बेटा, सब ऊपर वाले की मर्जी है। पगले अब दुख मत कर नंगा है तो क्या हुआ? चल अंदर आज गांड ही दे दे।"
धृतराष्ट्र : "मैं बहुत खुश हूँ प्रिये, तुमने मुझे 100 पुत्र दिये।"

गंधारी: "ये संभव ना होता स्वामी, अगर आप अंधे ना होते।"

धृतराष्ट्र: "क्या मतलब ? क्या ये सौ पुत्र मेरे नहीं हैं तो किसके है?"

गांधारी: "क्या पता? मैनें भी ते आखों पर पट्टी बाँध रखी है !
The No. 1 Browser of the year UC Browser Download now - Win iPhone5s and MotoG!
UC Browser

Analytics