UC Browser
दशहरा का तात्पर्य है सदा सत्य की जीत;
गढ़ टूटेगा झूठ का होगी सत्य से प्रीत;
सच्चाई की राह पर चाहे लाख बिछे हों शूल;
बिना रुके चलते रहना ये शूल भी बन जायेंगे फूल;
वर्तमान का दशानन है ये भ्रष्टाचार;
आओ मिल कर इस दशहरे पर हम इसका करें संहार।
दशहरे की शुभ कामनायें!
Picture SMS 58884
लोग कहते हैं कि प्यार बिना ज़िन्दगी नहीं होती
पर न जाने मुझे ऐसा क्यों लगता है कि...
.
.
.
.
.
.
.
ऑक्सीजन ज्यादा ज़रूरी है।
टीचर: 'रौशनी' को किसी वाक्य में प्रयोग करो।
पप्पू: कमरे में अँधेरा है।
टीचर: पागल 'रौशनी' कहाँ है?
पप्पू: टीचर, बिजली गयी हुई है।
पठान की बीवी ड्राइवर के साथ भाग गयी।
सिंधी: अब क्या करोगे?
पठान: करना क्या है अब गाड़ी खुद चलाऊंगा।
जो अल्लाह की बंदगी करता है;
उसे खुदा भी ग़मों से दूर रखता है;
लेता है खुदा भी इम्तिहान कभी-कभी;
मगर भूलना न करना दुआ तुम कभी;
क्योंकि उसकी बंदगी में ही तो हैं ज़िन्दगी की खुशियां सभी।
ईद मुबारक!
Picture SMS 58880
ज़िंदगी में जिस दिन भी कुछ करना हो तो...
.
.
.
.
.
.
.
.
शुरुआत पॉटी से ही करनी पड़ती है।
अपने रिश्तों को बारिश की तरह न बनाये, जो आये और चली जाये;
बल्कि रिश्ते ऐसे बनाये जो हवा की तरह हमेशा आपके अंग संग रहें।
किसका वजन ज्यादा होगा, एक किलो पँख या एक किलो पत्थर?
उमीदों को तू न तोडना, न हौंसले तू अब छोड़ना;
जब हो राह कठिन और रात घनी;
चाहे जो हो तो न रुकना, मंज़िल से तुम मुंह न मोड़ना।
जब लगे पैसा कमाने, तो समझ आया कि शौक तो मां-बाप के पैसों से पूरे होते थे,
अपने पैसों से तो सिर्फ जरूरतें पूरी होती है।
UC Browser

Analytics