UC Browser
आज-कल तो सारी रात गुज़र जाती है बस इसी कश्मकश में कि...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
यह साली रजाई में हवा कहाँ से घुस रही है।
सिंधी(पठान से): यार तुम्हारा जन्मदिन कब आता है?
पठान: नहीं यार, मेरा जन्मदिन नहीं आता।
सिंधी: ऐसा कैसे हो सकता है? जन्मदिन तो सबका आता है।
पठान: वो मैं रात को पैदा हुआ था, इसलिए मेरा जन्म दिन नहीं आता।
Picture SMS 61393
जो बच्चे बचपन में स्कूल में कभी 'मॉनिटर' नहीं बन पाए,
वो आजकल WhatsApp और Facebook पे ADMIN बने बैठे हैं।
आपके अंदर का जानवर एक समय के बाद ही बाहर आता है। जैसे शादी के बाद ही पता चलता है कि आप कौन हो
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
शेर या चूहा।
जो लोग रोज मन्दिर जाते हैं, भगवान को याद करते हैं,
यह भी ध्यान रखें कि...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
कभी गलती से भगवान ने याद कर लिया तो लेने के देने पड़ जाएंगे।
हकीकत समझो या फ़साना;
अपना समझो या बेगाना;
हमारा आपका है रिश्ता पुराना;
इसलिए फ़र्ज़ था आपको बताना;
ठंड शुरू हो गयी है, कृपया रोज़ मत नहाना!
Picture SMS 61389
यादें अक्सर होती हैं सताने के लिए;
कोई रूठ जाता है फिर मान जाने के लिए;
रिश्ते निभाना कोई मुश्किल तो नहीं;
बस दिलों में प्यार चाहिए उसे निभाने के लिए।
Picture SMS 61387
मैं हूँ तो एक ही जगह, लेकिन यहाँ हर हफ्ते कुछ नया दिखने को मिलता है। मैं क्या हूँ?
Picture SMS 61386
काश उसे चाहने का अरमान ना होता;
मैं होश में रहते हुए अनजान ना होता;
ना प्यार होता किसी पत्थर दिल से हम को;
या फिर कोई पत्थर दिल इंसान ना होता।
Picture SMS 61384
वक़्त से लड़कर जो नसीब बदल दे;
इंसान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे;
कल होगा क्या, कभी ना यह सोचो;
क्या पता कल खुद वक़्त अपनी तस्वीर बदल दे।
http://m.santabanta.com/sms-cat.aspx?parent=Hindi
UC Browser

Analytics